Top 5 A Love Shayari

Top 5 A Love Shayari

पहली मोहब्बत के लिए दिल जिसे चुनता है.

वो अपना हो न हो…दिल पर राज हमेशा उसी का रहता है।

Phli mohabbat ke liye dil jise chunta hai

wo apna ho na ho dil par raj hamesh usi ka rhta hai

Top 5 A Love Shayari
पहली मोहब्बत के लिए दिल जिसे चुनता है.
वो अपना हो न हो…दिल पर राज हमेशा उसी का रहता है।
Love-Shayari.in
Phli mohabbat ke liye dil jise chunta hai
wo apna ho na ho dil par raj hamesh usi ka rhta hai

Home

Love-Shayari.in

मुझे  उदास  देख  कर  उसने  कहा  मेरे  होते  हुए  तुम्हे  कोई  दुःख  नहीं  दे  सकता ,

फिर  कुछ  ऐसा  ही  हुआ  बाद  में  जितने  भी  दुःख  मिले  सब  उसी  के  हुए

Mujhe Udas dekh kar usne kaha Mere hote huye tumhe koi Dukh nahi de sakta,

phir kuch aisa hi hua Baad mein jitne bhi Dukh mile sab Ussi ke hue

Top 5 A Love Shayari
मुझे  उदास  देख  कर  उसने  कहा  मेरे  होते  हुए  तुम्हे  कोई  दुःख  नहीं  दे  सकता ,
फिर  कुछ  ऐसा  ही  हुआ  बाद  में  जितने  भी  दुःख  मिले  सब  उसी  के  हुए
Home
Mujhe Udas dekh kar usne kaha Mere hote huye tumhe koi Dukh nahi de sakta,
phir kuch aisa hi hua Baad mein jitne bhi Dukh mile sab Ussi ke hue

Home

हिंदी लव शायरी 

A Love Shayari

बड़ी  उदास  है  ज़िंदगी  तेरे  बिन  नहीं  है  कुछ  मेरे  पास  तेरे  बिन

अँधेरा  हो  या  हो  उजाला .. आता  नहीं  कुछ  बी  रास  तेरे  बिन

Badi Udas Hai Zindgi Tere Bin Nahi H Kuch Mere Paas Tere Bin

Andhera Ho Ya Ho Ujala.. Aata Nahi Kuch B Raas Tere Bin

Top 5 A Love Shayari
बड़ी  उदास  है  ज़िंदगी  तेरे  बिन  नहीं  है  कुछ  मेरे  पास  तेरे  बिन|
अँधेरा  हो  या  हो  उजाला .. आता  नहीं  कुछ  बी  रास  तेरे  बिन |

Home
Badi Udas Hai Zindgi Tere Bin Nahi H Kuch Mere Paas Tere Bin
Andhera Ho Ya Ho Ujala.. Aata Nahi Kuch B Raas Tere Bin

Home

Shayari

मुहब्बत की इन्तिहां न पूछिये, इस प्यार की वजह न पूछिये,

हर सांस मे समाये रहते हो.. कहां बसे हो तुम जगह न पूछिये।

Muhabbat ki inteha na puchiye iss pyaar ki vajah na puchiye

Har saans me smaye rhte ho kaha bse ho tum jagah na puchiye

Top 5 A Love Shayari
मुहब्बत की इन्तिहां न पूछिये, इस प्यार की वजह न पूछिये,
हर सांस मे समाये रहते हो.. कहां बसे हो तुम जगह न पूछिये।

Home
Muhabbat ki inteha na puchiye iss pyaar ki vajah na puchiye
Har saans me smaye rhte ho kaha bse ho tum jagah na puchiye

Home

Leave a Comment